आभासी दुनियाँ आभासी दुनियाँ

भूलभुलैया में उलझकर सच्चे मोती नहीं मिलते आशंकाओं में ज़िन्दगी के हल नहीं मिलते संभावनाओं के आकाश में शक के बादल आखिर क्यूँ ! एक दिन तो च...

Read more »
11:00 AM

उडा्न हूं मैं उडा्न हूं मैं

किसी उड़ान की कोई भाषा नहीं होती होता है विस्तृत आकाश और ओस ओस ज़िन्दगी किसी देवदार की तरह रश्मि प्रभा =========================...

Read more »
11:00 AM

एक थी अच्छाई और एक थी बुराई एक थी अच्छाई और एक थी बुराई

========================================= एक थी अच्छाई और एक थी बुराई ========================================= आओ बच्चों आज तुम्हें एक...

Read more »
11:00 AM

बचपन बचपन

जैसे पहाड़ों से जमे बर्फ पिघलें उसी तरह मेरे अनुभव दरकते हैं जब तक तुम्हें हम याद आयेंगे नए बर्फ गिरने लगेंगे ............. रश्मि प्रभा...

Read more »
11:00 AM

माँ ! माँ !

माँ को वृद्धाश्रम में रख तू कितना न्यायी है बेटा माली ही बदमाश है , तू तो सर का ताज है , क्योंकि पगली माँ को विश्वास है कि तू आएगा रश्मि...

Read more »
11:00 AM

हूक-सी उठती है... हूक-सी उठती है...

एक बूंद भी आँखों से नहीं निकलता आँखों के समंदर में रेगिस्तान बढ़ता चला जाता है बढ़ता जाता है ...... लहुलुहान अपनी सोच का कतरा कतरा चु...

Read more »
11:00 AM

मेरी बाँवरी आंखो ने एक ख्याब देखा है...!!! मेरी बाँवरी आंखो ने एक ख्याब देखा है...!!!

जब ज़िन्दगी गीत गाती है कहीं कोई अधूरा सवाल नहीं रह जाता रश्मि प्रभा ========================================================= ...

Read more »
11:00 AM

मैं -एक नारी मैं -एक नारी

मैं ही सुदामा मैं ही यशोदा राधा मुझमें ही है ! कभी गोपिका , कभी रुक्मिणी ऊधो का ज्ञान भी मुझमें ही है ! भरी सभा में मैं द्रौपदी सूतपुत्र...

Read more »
11:00 AM

वो निरंतर ऐसा ही करती,मेरा फ़ोन नहीं उठाती वो निरंतर ऐसा ही करती,मेरा फ़ोन नहीं उठाती

जब वह पास थी तो मेरी हथेलियों में उसकी नर्म उंगलियाँ थीं अब जीवन की उड़ान में जब कभी वह हवाओं से बातें कर रही होती है मैं घबरा जाता हूँ पर ...

Read more »
11:00 AM

झूठी बिल्ली और भ्रष्टाचार झूठी बिल्ली और भ्रष्टाचार

आओ बच्चों आज तुम्हें एक कहानी सुनाऊं बिल्ली की दबी चाल में चेहरे के नक़ाब हटाऊं रश्मि प्रभा =========================================...

Read more »
11:00 AM

औसत बुद्धि और सैनिक अधिकारी औसत बुद्धि और सैनिक अधिकारी

आर्मी शब्द जेहन में आते ही हरी वर्दी में सजे मजबूत कद काठी और उससे भी ज्यादा मजबूत इरादों से लैस युवा का अक्स सामने आता है। अलग-अलग तरह...

Read more »
11:00 AM

अनुप्रास हुआ मन-मन्दिर, जीवन मधुमास हुआ ! अनुप्रास हुआ मन-मन्दिर, जीवन मधुमास हुआ !

गात गात पात पात छलका है मधुमास प्रीत के गुलाल संग महका है अंग अंग कहता नशे में मन 'बरस बीता के अब होली आई मन में उगे हैं आम के बौर म...

Read more »
11:00 AM

नया रंग नया रंग

प्यार से जो रंग खेले जाएँ वे हमेशा नए होते हैं ख़ुशी के रंग जो चेहरे पर आते हैं वे हर रंग से बेहतर होते हैं ... रश्मि प्रभा =====...

Read more »
11:00 AM

माँ - एक मधुर अहसास माँ - एक मधुर अहसास

माँ ... जिसके आगे ख्वाहिशों को नए पंख, नई उड़ान मिलती है दुआओं के धागों में जो रक्षा मंत्र पिरो देती है माँ अपनेआप में सूर्य कवच होती है ...

Read more »
11:00 AM

कोई बात जरूर होगी कोई बात जरूर होगी

दहेज़ के अंधे को दहेज़ दिख ही जाता है....   रश्मि प्रभा =======================================================================   ...

Read more »
11:00 AM

मेमने की जान मेमने की जान

एक लड़की ... क्या गरीब, क्या अमीर चंगुल में आ जाये तो कोई फर्क नहीं होता उसमें और मेमने में ...!!! रश्मि प्रभा ======================...

Read more »
11:00 AM

आलम्ब मेरा...... आलम्ब मेरा......

तुममें ही है प्रतिविम्ब मेरा तुममें ही है अस्तित्व मेरा सबकुछ तुमसे है..... रश्मि प्रभा =======================================...

Read more »
11:00 AM
 
Top