फूल मुझे पसंद नहीं , मै कांटो का दीवाना हूँ |मै जलने वाली आग नहीं , जल जाने वाला परवाना हूँ |ख्वाब मुझे पसंद नहीं, मै हकीकत का आशियाना हूँ |मै मिटने वाली हसरत नहीं, जीने वाला अफसाना हूँ |मै थमने वाला वक़्त नहीं, साथ चलने वाला सहारा हुं | मैं ठंडी होती आग नहीं , न छु पाने वाली ज्वाला हूँ |मै रूकने वाली सांस नहीं, दिल मे धडकने वाला लावा हूँ | कहाँ बांध सकेगा मुझको कोई , मैं तो बहने वाली दरिया हूँ | मैं तो साथ लिए बह जाउंगी | सागर में ही तो समाना है ----


मीनाक्षी पन्त
http://duniyarangili.blogspot.com/

=========================================================




भूलने की हर कोशिश हवा में गुम हो जाएगी
कहेगी हंसके हौले से हवा
तुम्हें कोई याद करता है .....

रश्मि प्रभा
===========================================================

"तुम्हें कोई याद करता है ...."

जुदा तन हों भले जानां
न होंगी पर जुदा रूहें
धडकता दिल ,
हर आती सांस
तुमसे कहती जायेगी -
तुम्हें कोई याद करता है ...!!!

कभी बेसाख्ता
निकलोगे घर से ,
जानिबे मंज़िल ...
तले क़दमों के होंगे
कुछ निशाँ
बीते हुए कल के ..
उसी लम्हे में
सरगोशी सी होगी
तेरे कानों में-
तुम्हें कोई याद करता है ...!!!

भरी महफ़िल में होंगे
मौज के मेले
हजारों ही
डुबो के खुद को
उनमें तुम
भुला बैठोगे
ये दुनिया
परे दुनिया से
होते ही
खबर मिल जायेगी तुमको-
तुम्हें कोई याद करता है ...!!!

किसी पल होगे
तुम तन्हा
खुदी में
खुद की डूबोगे..
अतल गहराइयां
मन की
छुओगे जब अकेले में
उसी क्षण
एक धीमी सी
सदा
हर सिम्त गूंजेगी-
तुम्हें कोई याद करता है ...!!!
[DSC00052.JPG]
ना शायरा हूँ ना लेखिका..बस अंतर्मन के भावों को शब्द दे देती हूँ..जीवन को जितना जाना समझा है
उसके आधार पर कुछ बाँटने की कोशिश की है.. और समझने की प्रक्रिया जारी है

26 comments:

  1. बहुत सुन्दर अहसासो को शब्दो मे पिरोया है…………बहुत पसन्द आई।

    ReplyDelete
  2. मीनाक्षी जी और मुदिता जी दोनों की रचनाएँ दिल को छूती हैं.बहुत बहुत आभार रश्मिजी उनकी रचनाओं को यहाँ प्रस्तुत करने के लिए.

    ReplyDelete
  3. दोनों की रचनाएँ बहुत सुन्दर.....

    ReplyDelete
  4. आपका बहुत - बहुत शुक्रिया दीदी मेरी रचना सबके समक्ष रखने के लिए और मुदिता जी की रचना पढवाने का बहुत - २ शुक्रिया बहुत ही खुबसूरत शब्दों में पिरोई हुई रचना |

    ReplyDelete
  5. bhtrin jzbaati rchnaa ke liyen bdhaai . akhtar khan akela kota rajsthan

    ReplyDelete
  6. मीनाक्षी जी और मुदिता जी दोनों की ही रचनाएँ दिल को छू गई
    बहुत खूब

    ReplyDelete
  7. प्यारी कविता। पढ़कर खुशी मिलती है।

    ReplyDelete
  8. मीनाक्षी जी और मुदिता जी दोनों की ही रचनाएँ खजाने से खोज कर लई हैं दोनों ही एक से बढ़ कर एक.
    आभार

    ReplyDelete
  9. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (25-4-2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

    http://charchamanch.blogspot.com/

    ReplyDelete
  10. bhut kuch yaad aa gaya bhut khubsurat rachna....

    ReplyDelete
  11. बहुत ख़ूब्सूरत और हृदय स्पर्शी कविताएं !
    वाह !

    ReplyDelete
  12. वाह बहुत खूब ... बेहतरीन प्रस्‍तुति ।

    ReplyDelete
  13. बहुत सुन्दर भावाव्यक्ति। मीना़एए जी को शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  14. मीनाक्षी जी और मुदिता जी दोनों की रचनायें मन को छू गयीं...बहुत सुन्दर और भावपूर्ण

    ReplyDelete
  15. pyar karne wala man kabhi bhoolta nahi isliye har samay use yaad karta hai...mano mantro-jab karta hai.

    sunder bhaavpoorn abhivyakti.

    ReplyDelete
  16. दोनों रचनाएँ बहुत खूबसूरत ...

    ReplyDelete
  17. दोनों ही रचनाएँ बहुत खूबसूरत हैं, पढ़वाने के लिए आभार

    ReplyDelete
  18. मीनाक्षी जी और मुदिता जी आप दोनों की रचनायें पढ़कर मैं तो मुदित हो गयी...बधाई.

    ReplyDelete
  19. रश्मि जी ,
    आपका आभार मेरी रचना को 'वटवृक्ष' पर स्थान देने के लिए ..मिनाक्षी जी की रचना बहुत हृदयस्पर्शी है ..
    नेट पर न आ पाने के कारण यहाँ प्रतिक्रिया देने में विलम्ब हुआ ..क्षमा चाहती हूँ ..

    ReplyDelete
  20. रश्मि जी ,
    आपका आभार मेरी रचना को 'वटवृक्ष' पर स्थान देने के लिए ..मिनाक्षी जी की रचना बहुत हृदयस्पर्शी है ..
    नेट पर न आ पाने के कारण यहाँ प्रतिक्रिया देने में विलम्ब हुआ ..क्षमा चाहती हूँ ..

    ReplyDelete
  21. वाह बहुत बढिया है

    ReplyDelete
  22. म एडम्स KEVIN, Aiico बीमा plc को एक प्रतिनिधि, हामी भरोसा र एक ऋण बाहिर दिन मा व्यक्तिगत मतभेद आदर। हामी ऋण चासो दर को 2% प्रदान गर्नेछ। तपाईं यस व्यवसाय मा चासो हो भने अब आफ्नो ऋण कागजातहरू ठीक जारी हस्तांतरण ई-मेल (adams.credi@gmail.com) गरेर हामीलाई सम्पर्क। Plc.you पनि इमेल गरेर हामीलाई सम्पर्क गर्न सक्नुहुन्छ तपाईं aiico बीमा गर्न धेरै स्वागत छ भने व्यापार वा स्कूल स्थापित गर्न एक ऋण आवश्यकता हो (aiicco_insuranceplc@yahoo.com) हामी सन्तुलन स्थानान्तरण अनुरोध गर्न सक्छौं पहिलो हप्ता।

    व्यक्तिगत व्यवसायका लागि ऋण चाहिन्छ? तपाईं आफ्नो इमेल संपर्क भने उपरोक्त तुरुन्तै आफ्नो ऋण स्थानान्तरण प्रक्रिया गर्न
    ठीक।

    ReplyDelete

 
Top