और मैं जीता रहा..
और मैं जीता रहा..
हर हाल में चलना है ये सोचकर चलते रहे
ज़िन्दगी तेरे संग एक ख्वाब देखते रहे ....
पाँव के छाले हौसले बनते गए दर्द मरते गए
और हम जीते गए ......



रश्मि प्रभा


=============================================================

और मैं जीता रहा..

जाम दर जाम मुश्किलें चाव से पीता रहा
कश लगाये हौसलों के और मैं जीता रहा

प्याला मेरी प्यास का चाहे न भरा कभी ...
बूंद बूंद तरसा किया.. और मैं जीता रहा...

उनसा सर न झुकाया.. तो कहा, "मरूँगा मैं"...
मगर वो मरते गए...और मैं जीता रहा....

बढ़ा.. तो गिरा.. फिर संभला फिर बढ़ पड़ा ...
इस तरह मंजिले मिली.. और मैं जीता रहा

बारेमुश्किले जो कभी नामुमकिन ये सफ़र लगा
कदम कदम बढ़ता रहा .. और मैं जीता रहा....

साँसे धडकनों नब्जो को वो जिंदगी कह लेते हैं...
मैं जीने की खातिर मारा... और मैं जीता रहा...

हालात कभी.. तो.. कभी खुद को ही बदल लिया....
"आलोक " झुका कभी.. तना कभी... और मैं जीता रहा...
My Photo
आलोक मेहता http://deewan-e-alok.blogspot.com/

आयु - 28 वर्ष
स्थान - नैशविला रोड, देहरादून, उत्तराखंड व्यवसाय - Chartered Accountant मैं शौकिया लिखा करता हूँ.. न मैं लेखक हूँ और न कोई शायर.. बस जो महसूस करता हूँ. मन में जो भाव आते हैं कागज़ के पन्नो पे उतार देता हूँ.. यह लिखना मुझे खुद से मिलने का मौका देता हैं.. मुझे इस भागादौड़ी की जिंदगी में बचाए रखता हैं... सहेज रखता हैं...

23 comments:

  1. बहुत सुन्दर रचना है आलोक जी की,

    रश्मि जी यू-ट्यूब पर आपका गीत 'इंतज़ार' भी सुना, बहुत ही बेहतरीन है

    आप इस ब्लॉग पर दूसरे लेखकों के लेख को प्रकाशित करके उनको पहचान दिलाने का बेहतरीन कार्य कर रहीं हैं|

    पर जैसा कि आपने इस लेख में आलोक मेहता जी की पोस्ट का लिंक दिया है, उस पर क्लिक करने पर पाठक आपके ब्लॉग से हट जाता है| आप मेरा यह वीडियो देखें मैंने इस में इस समस्या का समाधान बताया है

    एक ऐसा लिंक जो आपके ब्लॉग पर पाठक को बनाये रखेगा

    ReplyDelete
  2. "जाम दर जाम मुश्किलें चाव से पीता रहा
    कश लगाये हौसलों के और मैं जीता रहा"
    आलोक जी यही जज्बा जिंदगी को जीने का हौसला देता है और बढ़ने को प्रेरित भी करता है.गजल के माध्यम से सुंदर सन्देश.

    ReplyDelete
  3. साँसे धडकनों नब्जो को वो जिंदगी कह लेते हैं...
    मैं जीने की खातिर मारा... और मैं जीता रहा...

    वाह ... बहुत खूब ।

    ReplyDelete
  4. जाम दर जाम मुश्किलें चाव से पीता रहा
    कश लगाये हौसलों के और मैं जीता रहा

    बहुत ही सुन्दर रचना !

    ReplyDelete
  5. behad khubsurat, zindgi se kareeb lagi yeh to...!

    ReplyDelete
  6. ज़िन्दगी जीने के जज़्बे का बहुत सुन्दर चित्रण किया है।

    ReplyDelete
  7. bahut achchi :)
    sach ke behud qareeb :)

    ReplyDelete
  8. Aap sabhi ka behad shukriya.. jo aapne rachna k baare mein itne sundar shabd kahe..

    Aabhaar sweekar kare..

    ReplyDelete
  9. aalok ji aap aur aapki rachna do no hi shaja hai aur sundar hain.

    ReplyDelete
  10. साँसे धडकनों नब्जो को वो जिंदगी कह लेते हैं...
    मैं जीने की खातिर मारा... और मैं जीता रहा...sayad yahi jindgi hai...

    ReplyDelete
  11. bahut khub aalok ji.....bahut acchi prastuti

    ReplyDelete
  12. 'और मै जीता रहा' एक शानदार प्रस्तुति .
    बहुत बहुत आभार इस प्रस्तुति के लिए .

    ReplyDelete
  13. उनसा सर न झुकाया.. तो कहा, "मरूँगा मैं"...
    मगर वो मरते गए...और मैं जीता रहा....
    गिरते संभालना , कभी तनना, कभी झुकना ...यह संतुलन ही तो जीवन को बचाए रखता है ...

    सुन्दर रचना !

    ReplyDelete
  14. बहुत अच्छी रचना...''कभी झुका...कभी तना..और मैं जीता रहा''

    ReplyDelete
  15. हर हाल में चलना है ये सोचकर चलते रहे
    ज़िन्दगी तेरे संग एक ख्वाब देखते रहे ....
    पाँव के छाले हौसले बनते गए दर्द मरते गए

    उनसा सर न झुकाया.. तो कहा, "मरूँगा मैं"...
    मगर वो मरते गए...और मैं जीता रहा....

    bahut achche bat kahi hai...

    ReplyDelete
  16. म एडम्स KEVIN, Aiico बीमा plc को एक प्रतिनिधि, हामी भरोसा र एक ऋण बाहिर दिन मा व्यक्तिगत मतभेद आदर। हामी ऋण चासो दर को 2% प्रदान गर्नेछ। तपाईं यस व्यवसाय मा चासो हो भने अब आफ्नो ऋण कागजातहरू ठीक जारी हस्तांतरण ई-मेल (adams.credi@gmail.com) गरेर हामीलाई सम्पर्क। Plc.you पनि इमेल गरेर हामीलाई सम्पर्क गर्न सक्नुहुन्छ तपाईं aiico बीमा गर्न धेरै स्वागत छ भने व्यापार वा स्कूल स्थापित गर्न एक ऋण आवश्यकता हो (aiicco_insuranceplc@yahoo.com) हामी सन्तुलन स्थानान्तरण अनुरोध गर्न सक्छौं पहिलो हप्ता।

    व्यक्तिगत व्यवसायका लागि ऋण चाहिन्छ? तपाईं आफ्नो इमेल संपर्क भने उपरोक्त तुरुन्तै आफ्नो ऋण स्थानान्तरण प्रक्रिया गर्न
    ठीक।

    ReplyDelete

 
Top