कुछ अलग-अलग से सवाल माँ के नाम...... कुछ अलग-अलग से सवाल माँ के नाम......

किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकाँ आई मैं घर में सब से छोटा था मेरे हिस्से में माँ आई...! मुनव्वर राना की इन पंक्तियों के साथ प...

Read more »
11:00 AM

परख लूं ... परख लूं ...

मेरे घरौंदे से तेरे नाम की खुशबू आती है बंद कमरों से तेरे नाम की सदा आती है मैं अनसुना करूँ तो कैसे ? इस बेचैन रूह को क्या परखना ... रश्मि...

Read more »
11:00 AM

मदर हूँ मैं ! मदर हूँ मैं !

एक माँ मन्नतों की सीढियां तय करती है एक माँ दुआओं के दीप जलाती है एक माँ अपनी सांस सांस में मन्त्रों का जाप करती है एक माँ एक एक निवाले में...

Read more »
11:00 AM

मरना आसान लेकिन जीना बहुत कठिन मरना आसान लेकिन जीना बहुत कठिन

एक लम्बी यात्रा करनी है.... हमारे वक्त में जो मासूमियत हुआ करती थी उसके बीज ढूंढने हैं... रात को जब सब नींद के आगोश में होंगे तब हर आँगन मे...

Read more »
11:00 AM

स्त्री- देह का सच स्त्री- देह का सच

सदियों से बनी चित्रकारों की पेंटिंग्स देख देखकर हैरानी होती रही है किसी भी चित्रकार नेऔरत को जिस्म से ज्यादा ना पेंट किया है और ना ही सोचा ...

Read more »
11:00 AM

माँ की बाँहों में माँ की बाँहों में

माँ - सुबह का अजान माँ- रात की लोरी माँ- जब कहीं कोई राह नहीं तो माँ एक हौसला माँ कितनी भी कमज़ोर हो जाये , ऊँगली नहीं छोडती हर दिन नज़र से उ...

Read more »
11:00 AM

लफ्ज़ बुनने लगती हूँ लफ्ज़ बुनने लगती हूँ

जिंदगी एक खुशनुमा पल है निर्भर है तुम पर-इस पल को कैसे संवारते हो! न वक़्त ठहरता है न लोग.......... पर गर तुमने वक़्त की नाजुकता को जान लिय...

Read more »
11:00 AM

'कोयला ' भये ना 'राख' 'कोयला ' भये ना 'राख'

वक्त हो तो बैठो दिल की बात करूँ.... कुछ नमी हो आंखों में तो दिल की बात करूँ... तुम क्या जानो, अरसा बीता, दिल की कोई बात नहीं की, कहाँ से टू...

Read more »
11:00 AM

यज्ञ यज्ञ

रेत पर निशान तुम्हारे पैरों के मैं चलती रही उसी पे अनवरत अब है जाना, ये निशान मेरे हो गए हैं ! अनुसरण किया था जिनकी राहों का उनकी राहें अब ...

Read more »
11:00 AM

मिन्नी.../ minni मिन्नी.../ minni

एक मिन्नी ... कलम दो , एक मेरी एक राजीव जी की .... मिन्नी एक है , उसके ख्वाब एक, उसकी हँसी एक, उसकी बातूनी बातें एक, उसकी सरलता एक, उसकी दृढ़...

Read more »
11:00 AM

बेहतर खुदा बेहतर खुदा

कितना कुछ होता है आँखों में जाता ही नहीं हर दिन कहता है उस खुदा के सज़दे से कभी दूर ना होना जिसने हर सोच से पहले तुमको सोचा है ........ र...

Read more »
11:00 AM

मुकद्दर की हकीकत मुकद्दर की हकीकत

जब असफलता निराश करे तो कोई ख्वाब बुनो............ मैं दुआ हूँ- उन ख़्वाबों की ज़मीन पर जहाँ निराशा अपनी असफलता पर रोती है और तुम्हारी आंखों म...

Read more »
11:00 AM

द्वन्द द्वन्द

वर्षों का द्वन्द है प्रश्न सुरसा की तरह मुंह फैलाये खड़े होते हैं ऐसे में घबराकर हम जातक कथाओं की बात करने लगते हैं लेकिन तब भी सुरसा का ...

Read more »
11:00 AM

अजनबी ... अजनबी ...

आज भी, जिसे तुम राख मान रहे हो उसके अन्दर अब भी चिंगारी है संस्कारों के पदचिह्न आज भी हैं, मूल्यांकन की तदबीर आज भी है और मानो आज भी इसमें ...

Read more »
11:00 AM

बिटिया क्या है? बिटिया क्या है?

कमज़ोर नहीं है नारी जाने है दुनिया सारी माँ तेरी कृपा है हर उस घर में जहाँ जन्म ले नारी रश्मि प्रभा ================================...

Read more »
11:00 AM

मासूम चिड़िया मासूम चिड़िया

तुम्हारे पास लकड़ी की नाव नहीं , निराशा कैसी? कागज़ के पन्ने तो हैं ! नाव बनाओ और पूरी दुनिया की सैर करो.......... तुम डरते हो कागज़ की ना...

Read more »
11:00 AM

मेरा नन्हा सा घोसला मेरा नन्हा सा घोसला

तिनके-तिनके से गौरैया अपना नीड़ बसाती है संध्या होने से पहले ही दाना लेकर आती है नीड़ में बच्चे शोर मचाते भूख लगी माँ दाना दो खिला-पिलाकर ब...

Read more »
11:00 AM
 
Top